सोनभद्र

अकीदतमंदों ने पूरे इस्लामी शानो शौकत से किया जुलूसे मुहम्मदी में शिर्कत

सीओ व कोतवाल मय फोर्स रहे मुस्तैद

दुद्धी, सोनभद्र। सरकार, मुख्तार, हुजूर, यासीन की आमद मरहबा, नारे तकबीर अल्लाह हू अकबर नारे रिसालत या रसूलल्लाह, जश्ने ईद मिलादुन्नबी जिंदाबाद जैसे इस्लामिक नारे व मुस्तफा जाने रहमत पे लाखों सलाम शम-ए-बज्मे हिदायत पर लाखों सलाम जैसे दुरुदो सलाम पढ़ते हुए सैकड़ों की तादाद में मुस्लिम बंधुओं ने वृहस्पतिवार को जुलूसे मोहम्मदी में पूरे जोशो खरोश के साथ शिरकत की। दुद्धी नगर सहित रामनगर, डूमरडीहा, खजूरी, बघाडू, दीघुल, पिपराही, मलदेवा आदि ग्रामीण अंचलों के निवासी अकीदत मुस्लिम बंधु अपने सर पर रंग-बिरंगी पगड़ी इस्लामी पगड़ीरूपी साफा बांधे जुलूस की शक्ल में प्रातः 9 बजे मकतब जब्बरिया ईदगाह पहुंच गए। ईदगाह से निकला जुलूस कस्बे के प्रमुख मार्ग से गुजरता हुआ अमवार मोड़ तक गया, फिर वापस जामा मस्जिद के पास आकर महफिले मिलाद के रूप में तब्दील हो गया। जुलूस में शामिल मुस्लिम बंधुओं द्वारा अन्य धर्म के लोगों को गुलाब का फूल देकर अपने नगर, क्षेत्र व देश की एकता, भाईचारा तथा मोहब्बत कायम रखने की अपील की गई। कस्बे के तहसील व अमवार तिराहे पर मौलाना नजीरुल कादरी और मुफ़्ती महमूद साहब ने हुजूर मुहम्मद साहब की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए उनके बताए मार्गों पर चलने की अपील की। जुलूस वापसी में कादरिया तालीमी ग्रुप के संस्थापक हजरत मौलाना मोहम्मद नसरुद्दीन साहब क़िब्ला की जेरे सदारत में जामा मस्जिद के पास महफिले मिलाद आयोजित की गई। कारी उस्मान साहब व रिज्वानुद्दीन की नाते पाक से आगाज होने वाली इस मुकद्दस महफ़िल में अरबी महाविद्यालय के प्राचार्य मुफ्ती महमूद साहब ने अपने रूहानी तकरीर में कहा कि माहे रबीउन्नूर के मुबारक महीने में दुनियां वालों की हिदायत, भलाई व रहनुमाई के लिए 12वीं रबी अव्वल शरीफ की सुबह मक्का शरीफ में पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब जल्वा नुमा हुए। जिन्होंने तमाम जुर्म सहते हुए लोगों को अल्लाह की इबादत की दावत और अमन का पैगाम दिया। कहा कि हमें उस रसूले मुकर्रम सल्लल्लाहो अलैहे वसल्लम के लाए हुए दिन के पाक उसूलों को समझकर अपनाने की जरूरत है जिनका हम कलमा पढ़ते हैं और जिनके हम उम्मती होने पर हमें नाज है। हमारी दुनियां और आखिरत की भलाई इसी में है कि हम इस्लामी उसूलों को अपनाएं और उनकी हिफाजत करें। ईद मिलादुन्नबी के मौके पर आइए हम पैग़ंबरे इस्लाम व रहबरे इंसानियत सल्लल्लाहो अलैहे वसल्लम की पाक रूहानी व अख़लाक़ी तालीमात पर गौर करें और उनके द्वारा परिभाषित इस्लाम धर्म के वसूलों को अपने जीवन में चरितार्थ करें।अंत में हुजूर नसीरे मिल्लत की कौमी एकता, आपसी मेल मुहब्बत, हर आफत बला से दुद्धी क्षेत्र को महफूज रखने जैसी रूहानी दुआख्वानी से महफिले मिलाद का समापन हुआ। महफिले मिलाद का संचालन हाफिज रजाउल मुस्तफा ने किया। जुलूस में मुख्य रूप से सदर कल्लन खान, मकतब के प्रबंधक हासिम अंसारी, हाजी सैयद फैजुल्लाह, केंद्रीय अखाड़ा कमेटी के सदर बनारसी शाह, फतेहमुहम्मद खान, मेराज अहमद, सैफुल्लाह एड, कलीमुल्लाह खान, सलीम खान, गांधी खान, मुख्तार अंसारी भुट्टो, राजा बाबू, मुर्तुजा, जोखन खलीफा, यूनुस खान, साबिर, बाबू डॉन, सरफराज आलम, सभासद शाहिद आलम, शाहनवाज खान, टिंकू खान, कादरिया गर्ल्स कॉलेज के मौलाना गुलाम सरवर, कौनेन अली, पेशिमाम हाफिज सईद अनवर, मौलाना शमिमुल कादरी, एजाजुल हुदा, आदिल खान, हाफिज जहांगीर, मौलाना कासिम, सहित हजारों की संख्या में अकीदतमंद मौजूद रहे। सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस उपाधीक्षक प्रदीप सिंह चंदेल, कोतवाल नागेश सिंह, कस्बा इंचार्ज कमल नयन दुबे अपने अधीनस्थ पुलिसकर्मियों व पीएसी बल के साथ मुस्तैद रहे।

Md.shamim Ansari

मु शमीम अंसारी कृषि स्नातकोत्तर (प्रसार शिक्षा/जर्नलिज्म) इलाहाबाद विश्वविद्यालय (उ.प्र.)

Related Articles

Back to top button
BREAKING NEWS
रेणुकूट खाडपाथर के पास टैंकर स्कार्पियो की हुई टक्कर ओबरा निवासी 2 लोग घायल सोनभद्र में "एम्स" एवं केंद्रीय विश्वविद्यालय की उठी मांग पूर्व ब्लाक प्रमुख के पुत्र के निधन पर शोक आदिकालीन संस्कृति है सोनभद्र की पहचान: दीपक कुमार केसरवानी पैसेंजर ट्रेन के धक्के से युवक की मौत पिपरी मडैया के पास अल्टो पे राख लदा ट्रक पलटा सिंगरौली निवासी 4 लोगो की दबने की आशंका पुलिस रेस्क्यू... हाईवा के चपेट मे आने से युवक की गंभीर रूप से ज़ख्मी, इलाज के दौरान मौत लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपाईयों ने किया बैठक लाभार्थी संपर्क अभियान सहित अन्य कार्यक्रमों को लेकर बनी... भाजपा जिलाध्यक्ष ने विकसित भारत संकल्प पत्र को किया लांच युवा जन कल्याण सेवा संस्थान की ओर से बच्चों के लिए चित्रकला प्रतियोगिता का हुआ आयोजन
Download App