सोनभद्र

मकर संक्रांति पर नही होगा कनहर नदी में मेला का आयोजन

दुद्धी, सोनभद्र– मकर संक्रांति केे अवसर पर लगने वाला वार्षिक मेला इस वर्ष कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से नहीं लग पाएगा।
बुधवार को कोतवाली में शान्ति समिति की हुई बैठक में उक्त बातें पुलिस उपाधीक्षक दुद्धी राम आशीष यादव ने कहा। उन्होंने देश भर में तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण के मद्देनजर सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस का हवाला देते कहा कि किसी भी तरह का भीड़भाड़ वाले आयोजन प्रतिबंधित किया गये हैं।जिसे देखते हुए इस वर्ष मकर संक्रांति पर कहीं भी मेले का आयोजन नही किया जाएगा।उन्होंने क्षेत्र के सभी प्रबुद्धजनों एवं व्यापारियों से अपील किया है कि मकर संक्रांति के दिन कनहर नदी अथवा क्षेत्र में अन्य स्थान पर लगने वाले मेले स्थगित रहेंगे, वहां जाने से बचें।इसके साथ ही कोरोना की भयावहता से लोगों को आगाह करते हुए कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में हम सबने अपने बहुतों को खोया है।तीसरी लहर भी खतरनाक है इससे बचाव ही सुरक्षा है।मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अवश्य करें। कोतवाल राघवेंद्र सिंह ने भी मकर संक्रांति में कहीं भी मेले का आयोजन न करने की बात कही।कहा कि कोरोना गाइडलाइंस का अनुपालन न किये जाने की दशा में सम्बंधित के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।इस मौके पर एसएसआई , जेबीएस अध्यक्ष कन्हैया लाल अग्रहरि, सचिव सुरेंद्र कुमार गुप्ता, कमलेश सिंह कमल,सुरेश प्रसाद प्रधान बीडर, फौजदार सिंह परस्ते,राम मनोहर समेत कई लोग उपस्थित रहे। लगाते हैं।

Md.shamim Ansari

मु शमीम अंसारी कृषि स्नातकोत्तर (प्रसार शिक्षा/जर्नलिज्म) इलाहाबाद विश्वविद्यालय (उ.प्र.)

Related Articles

Back to top button
BREAKING NEWS
श्रीराम कथा के अंतिम दिन रावण बध लँका पर विजय अयोध्या वापसी के बाद जश्न में डूबे श्रोता डीजे के साथ शांतिपूर्ण माहौल में विसर्जित हुई मां दुर्गा की प्रतिमाएं बकरिहवाँ में अधर्म पर धर्म की विजय राम ने किया रावण वध अधर्म पर धर्म की विजय राम ने किया रावण का वध घर की बढेर से लटकता मिला वृद्धा का शव बलिया शहर कोतवाल प्रवीण सिंह भारी बरसात में भीगते हुये वर्दी का फर्ज निभा श्रद्धालुओं की मदद करते नज... नौ कन्या पूजन, हवन पूर्णाहुति के साथ नवरात्रि अनुष्ठान हुआ सम्पन्न चोरों ने दो खड़े ट्रैक्टर से गायब किये बैटरी पिपरी में भव्य गरबा कार्यक्रम की रही धूम आदि शक्ति सिद्धिदात्री की प्रतिमा की हुई प्राण प्रतिष्ठा