सोनभद्र

अमवार के सरकारी स्कूलों में पढ़ाई संग पुरस्कार मुहिम के तहत रीडिंग फेस्ट का हुआ आयोजन

रीड टुडे लीड टुमारो

पूर्व माध्यमिक विद्यालय अमवार कालोनी के आशुतोष,राजन बने मिस्टर पढ़ाकू वही रेखा और रुपा बनी मिस पढ़ाकू

प्राथमिक विद्यालय अमवार कालोनी के सूर्य प्रकाश बने मिस्टर पढ़ाकू और नेहा बनी मिस पढ़ाकू

तीन घंटे में 102 किताबें पढ़ी गईं ।

दुद्धी, सोनभद्र। ग्रामीण परिवेश में जहां एक और संसाधनों की कमी तो दूसरी ओर बेसिक शिक्षा विभाग में कार्यरत सभी शिक्षक अपने नवाचारी गतिविधियों से बच्चों को भांति भांति तरीकों से किताबों और पढ़ाई के प्रति दिलचस्पी बढ़ाने के लिए नवाचार किए जा रहे हैं । आज मैंने भी उसी दिशा में हमारी एक मुहिम को हवा दी । विकासखंड दुध्दी के कम्पोजिट विद्यालय अमवार कालोनी मे से बच्चों में किताबों के प्रति दिलचस्पी और ज्ञानार्जन को बढ़ावा देने हेतु “करो पढ़ाई जीतो पुरस्कार” मुहिम के तहत रीडिंग फेस्ट का आयोजन किया । इस आयोजन का नारा रीड टुडे लीड टुमारो रहा । इस फेस्ट की खास बात यह थी कि जो दिन भर विद्यालय अवधि के दौरान सबसे ज्यादा किताबें पढ़ेगा मिस्टर पढ़ाकू व मिस पढ़ाकू के खिताब से नवाजा जाएगा ।
प्रातः 10:00 बजे से आरंभ हुए इस मुहिम में प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालय में अध्ययनरत बच्चों में किताबों को पुस्तकालय से निर्गत कराने को लेकर होड़ मच गई । 3 घंटे में 102 से अधिक किताबें पढ़ी गईं । बच्चे उन किताबों को विद्यालय प्रांगण में कहीं भी और किसी भी तरह से बैठकर, लेटकर पढ़ने के लिए पूरी तरीके से आजाद थे । नजारा कुछ यूं था कि कोई बच्चा घास पर लेटा है तो कोई एकांत में बैठा है सब पुस्तकों में छपे सुंदर चित्र और ज्ञानवर्धक शब्दों को आत्मसात करने में जुटे थे क्योंकि किताब पढ़ने के बाद उन्हें एक साक्षात्कार जो देना था । साक्षात्कार में उसी पढ़ी गई पुस्तक से अधिकतम 5सवाल निर्णायक शिक्षकों द्वारा पूछे गए जिनमें से क्वालीफाइंग मार्क्स न्यूनतम 3 प्रश्नों के उत्तर देने पर उनके नाम के आगे अंकित कर दिए गए । यह रीडिंग फेस्ट दोपहर 1:00 बजे तक चला । निर्णायक के रूप में नीरज चतुर्वेदी,शताक्षी, सतीश और जीत सिंह थे
मिस्टर पढ़ाकू और मिस पढ़ाकू खिताब देने के दौरान बच्चों को प्रेरक उद्बोधन और पढ़ने की सतत प्रक्रिया के बारे में प्रधानाध्यापक नीरज चतुर्वेदी ने अपने वक्तव्य में टिप्स दिए । शिक्षको ने भी बच्चों में जमकर जोश भरा।
बच्चों ने पूरे जोश और उत्साहित होते हुए जमकर तालियां बजाईं और अधिक से अधिक किताबें पढ़ने का संकल्प लिया । इस मुहिम का उद्देश्य बच्चों के पास मोबाइल और तकनीकी का अभाव के चलते पुस्तकों के प्रति लगाव को बढ़ाना है।

नीरज चतुर्वेदी (प्रधानाध्यापक ) कम्पोजिट विद्यालय अमवार कालोनी दुध्दी ने बताया कि यह गतिविधि भविष्य में भी सदैव जारी रहेगी ।

Md.shamim Ansari

मु शमीम अंसारी कृषि स्नातकोत्तर (प्रसार शिक्षा/जर्नलिज्म) इलाहाबाद विश्वविद्यालय (उ.प्र.)

Related Articles

Back to top button
BREAKING NEWS
पुलिस और अपराधियों में मुठभेड़ बाल बाल बचे एस एच ओ कनहर सिचाई परियोजना के निरीक्षण में पहुँचे जलशक्ति मंत्री को विस्थापितों ने सौंपा ज्ञापन जलशक्ति मंत्री ने निर्माणाधीन कनहर सिंचाई परियोजना निर्माण का लिया जायजा तरिया क्षेत्र में अस्पताल की मिली सौगात जिला न्यायालय का निर्माण होगा शीघ्र: बृजेश पाठक वैल्यूज़ मंथ के अंतर्गत हिण्डाल्को में कार्यरत सफाई कर्मियों को किया गया सम्मानित भाजपाईयों ने किया गर्मजोशी से उपमुख्यमंत्री का स्वागत प्राथमिक विद्यालय यूनिट-3 में छात्रों को दिया गया रोबोटिक्स का प्रशिक्षण जेएमडी दिल्ली की टीम ने एन ई आर वाराणसी को दी पटखनी - देवेंद्र,साजिद और चोपन पुलिस ने तमंचे के बल पर लूट का खुलासा कर लूटी गयी स्वीफ्ट डिजायर के साथ 2 आरो...
Download App