सोनभद्र

भूमि आयोग का हो गठन व गरीबों में जमीनों का वितरण हो- आइपीएफ

आइपीएफ का धरना 31वें दिन भी जारी
म्योरपुर, सोनभद्र (विकास अग्रहरि)। लखीमपुर किसान नरसंहार के जिम्मेदार गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी को बर्खास्त करने और गिरफ्तार करने, वनाधिकार कानून के तहत पुश्तैनी जमीन पर अधिकार देने, मनरेगा में काम और समय पर मजदूरी, आदिवासी छात्राओं के लिए निःशुल्क आवासीय उच्च शिक्षा, शुद्ध पेयजल, आवागमन के साधन, शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार जैसे सवालों पर आइपीएफ का धरना इकतीसवें दिन भी रासपहरी में जारी रहा।
धरने में वक्ताओं ने कहा कि दुद्धी में बड़े पैमाने पर सर्वे सेटलमेंट के दौरान आदिवासियों की जमीनों को गैर आदिवासियों ने फर्जी तरीके से अपने नाम करा लिया है जो सामाजिक तनाव का एक बड़ा कारण है। इसी प्रकार प्रदेश में मठ, ट्रस्ट व सोसाइटी के नाम पर जमीनों पर अवैध कब्जा है। इसकी जांच के लिए भूमि आयोग का गठन करना चाहिए और यह जमीनें आदिवासियों, दलितों व गरीबों में वितरित की जानी चाहिए। वक्ताओं ने कहा कि प्रदेश में बड़े पैमाने पर बंजर, परती की ग्रामसभा की जमीने है जिस पर आवासीय पट्टा गरीबों को मिलना चाहिए।
धरने व आम सभाओं में आइपीएफ जिला संयोजक कृपा शंकर पनिका, मजदूर किसान मंच जिलाध्यक्ष राजेन्द्र प्रसाद गोंड़, देव कुमार विश्वकर्मा, मनोहर गोंड़, मंगरू प्रसाद गोंड़, मान सिंह गोंड़, राम कुमार गोंड़, राम किशुन गोंड़, गीता देवी, सुगवंती गोंड़, जगमोहन गोंड़, भरतलाल गोंड़, मानरूप गोंड़ आदि लोग मौजूद रहे।

Md.shamim Ansari

मु शमीम अंसारी कृषि स्नातकोत्तर (प्रसार शिक्षा/जर्नलिज्म) इलाहाबाद विश्वविद्यालय (उ.प्र.)

Related Articles

Back to top button
BREAKING NEWS
श्रीराम कथा के अंतिम दिन रावण बध लँका पर विजय अयोध्या वापसी के बाद जश्न में डूबे श्रोता डीजे के साथ शांतिपूर्ण माहौल में विसर्जित हुई मां दुर्गा की प्रतिमाएं बकरिहवाँ में अधर्म पर धर्म की विजय राम ने किया रावण वध अधर्म पर धर्म की विजय राम ने किया रावण का वध घर की बढेर से लटकता मिला वृद्धा का शव बलिया शहर कोतवाल प्रवीण सिंह भारी बरसात में भीगते हुये वर्दी का फर्ज निभा श्रद्धालुओं की मदद करते नज... नौ कन्या पूजन, हवन पूर्णाहुति के साथ नवरात्रि अनुष्ठान हुआ सम्पन्न चोरों ने दो खड़े ट्रैक्टर से गायब किये बैटरी पिपरी में भव्य गरबा कार्यक्रम की रही धूम आदि शक्ति सिद्धिदात्री की प्रतिमा की हुई प्राण प्रतिष्ठा