सोनभद्र

दुद्धी में डेंगू का मरीज मिलने से हड़कंप, वायरल बुखार का प्रकोप बढ़ा

(धनौरा में जांच करती स्वास्थ्य विभाग की टीम)

धनौरा में मिला डेंगू का मरीज, जिला अस्पताल रिफर

(मरीजों से भरा दुद्धी सीएचसी का वार्ड)

धनौरा पहुंची स्वास्थ्यकर्मियों की टीम, लिया ब्लड सैम्पल

दुद्धी सीएचसी में डायरिया से पीड़ित भर्ती महिला)

दुद्धी, सोनभद्र (मु.शमीम अंसारी/भीम जायसवाल)। दुद्धी क्षेत्र इन दिनों संक्रामक बीमारियों की चपेट में है। समूचे क्षेत्र में डेंगू, डायरिया व सर्दी-खाँसी, बुखार का प्रकोप बीते 15 दिनों से गहराया हुआ है। डेंगू, डायरिया व वायरल बुखार होने की वजह से जिले के घोरावल तहसील क्षेत्र में एक की मौत भी हो चुकी है। जिससे जिला मुख्यालय से लेकर समस्त सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में हड़कंप मचा है।

मंगलवार को धनौरा गांव के निवासी 21 वर्षीय सुमित कुमार पुत्र सिंघासन प्रसाद को तेज बुखार, उल्टी व शरीर मे अकड़न के मद्देनजर स्थानीय सीएचसी में लाया गया जहां चिकित्सक डॉ संजीव द्वारा खून जांच कराया गया। ब्लड टेस्ट में डेंगू की पुष्टि होते ही तत्काल चिकित्सक द्वारा जिला अस्पताल के लिए रिफर कर दिया गया। परिजन मरीज को लेकर जिला अस्पताल भर्ती कराए जहां इलाज जारी है। इधर बुधवार को डॉ मनोज इक्का के नेतृत्व में बीपीएम संदीप सिंह, फार्मासिस्ट संजय श्रीवास्तव, लैब टेक्नीशियन संजय कुमार, आशा निर्मला देवी आदि स्वास्थ्यकर्मियों का एक दल धनौरा गांव पहुंचकर डेंगू से पीड़ित मरीज के घरवालों व पड़ोसियों का डेंगू व मलेरिया जांच हेतु बुखार, दर्द से पीड़ित कुल 20 मरीजों का ब्लड सैम्पल लिया। राहत की बात यह रही कि किसी मे डेंगू नही पाया गया। सभी मरीजो को आवश्यक दवाइयां भी वितरित की।

दुद्धी सीएचसी में भर्ती डायरिया से संक्रमित 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला सावित्री ने बताया कि डायरिया का इलाज पिछले एक सप्ताह से इलाज दुद्धी अस्पताल में चल रहा है। 7 दिन पहले हमारे पति राजकुमार की अचानक तबीयत खराब हुई और उनकी मौत हो गई। परिवार के मुखिया की अज्ञात बीमारी से हुई मौत के बाद पूरा परिवार सदमे में है।

दुद्धी सीएचसी चिकित्सक डॉ संजीव कुमार ने बताया कि एक महिला डायरिया से संक्रमित अस्पताल में लाई गई है, जिसका इलाज अभी चल रहा है। यह भी बताया कि पिछले 15 दिनों से लगातार वायरल सर्दी, खाँसी, बुखार जैसे मरीजों की संख्या में दो गुना बढ़ोतरी हुई है।

प्राइवेट चिकित्सकों ने बताया कि अगस्त सितंबर के महीनों में ज्यादातर मरीजों की संख्या बढ़ जाती है। पिछड़े क्षेत्र में मरीज जब ज्यादा गंभीर हो जाते हैं तब अस्पताल की ओर आते हैं। मुख्य रूप सर्दी खांसी बुखार डायरिया जैसे बीमारियां इस समय फैला हुआ है।

स्थानीय समाजसेवीयों ने बताया कि अधीक्षक गुरु प्रसाद मौर्या का ट्रांसफर होने के बाद सरकारी अस्पताल में समस्त प्रशासनिक व्यवस्था फेल हो गई है। मरीजों को सुविधा नही मिलती है। जबकि वर्तमान समय मे मरीजों की अस्पताल में भीड़ लगी हुई है। लोगो ने मुख्य चिकित्साधिकारी का ध्यान आकृष्ट करते हुए तत्काल अधीक्षक का ट्रांसफर निरस्त कर अस्पताल की लुंज-पुंज हो चुकी व्यवस्था को सुदृढ़ करने की मांग की है।

Md.shamim Ansari

मु शमीम अंसारी कृषि स्नातकोत्तर (प्रसार शिक्षा/जर्नलिज्म) इलाहाबाद विश्वविद्यालय (उ.प्र.)

Related Articles

Back to top button
BREAKING NEWS
कनहर सिचाई परियोजना के निरीक्षण में पहुँचे जलशक्ति मंत्री को विस्थापितों ने सौंपा ज्ञापन जलशक्ति मंत्री ने निर्माणाधीन कनहर सिंचाई परियोजना निर्माण का लिया जायजा तरिया क्षेत्र में अस्पताल की मिली सौगात जिला न्यायालय का निर्माण होगा शीघ्र: बृजेश पाठक वैल्यूज़ मंथ के अंतर्गत हिण्डाल्को में कार्यरत सफाई कर्मियों को किया गया सम्मानित भाजपाईयों ने किया गर्मजोशी से उपमुख्यमंत्री का स्वागत प्राथमिक विद्यालय यूनिट-3 में छात्रों को दिया गया रोबोटिक्स का प्रशिक्षण जेएमडी दिल्ली की टीम ने एन ई आर वाराणसी को दी पटखनी - देवेंद्र,साजिद और चोपन पुलिस ने तमंचे के बल पर लूट का खुलासा कर लूटी गयी स्वीफ्ट डिजायर के साथ 2 आरो... सोन संगम शक्तिनगर के तरफ से संत शिरोमणि रविदास जयंती के अवसर पर भव्य आयोजन किया गया
Download App