Close

वैक्सीन संकट: अगर आपने भी लगवाई है कोविशील्ड, तो जानें कब लगेगी दूसरी डोज

सोनभद्र।(मु0 शमीम अंसारी/भीम जायसवाल) केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक लोगों में कोई भ्रम नहीं होना चाहिए। एकदम स्पष्ट है जिन लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है, अब उन्हें दूसरी खुराक तीन से चार महीने बाद ही लगेगी। अधिकारियों का कहना है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की कमिटी ने पाया है कि कोविशील्ड को लेकर इम्युनिटी तीन से चार महीने के दौरान सबसे बेहतर हो जाएगी।

लालमती देवी, सुग्रीव प्रसाद, निर्मल कुमार निवासी धनौरा शंकर प्रसाद अग्रहरि निवासी दुद्धी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दुद्धी में 7 अप्रैल को कोविशील्ड की पहली डोज लगवाई थी। सोचा था कि दूसरी डोज 20 मई के आसपास लगवा लूंगा। लेकिन कोविशील्ड की समय-सीमा बढ़ने से अमित को समझ ही नहीं आ रहा है कि अब दूसरी डोज कब लगेगी। क्योंकि सरकार ने अब इस वैक्सीन के लिए समय सीमा का अंतराल तीन महीने से चार महीने के बीच कर दिया है। अब कंफ्यूजन है कि जिन लोगों ने कोविशील्ड वैक्सीन की डोज चार से आठ हफ्ते के बीच वाली समझ के लगवाई थी उनको अब वैक्सीन कब लगेगी। केंद्र सरकार की तय नई गाइडलाइंस के मुताबिक जितने लोगों की दूसरी डोज लगनी है, अब उन्हें पहली लगी डोज के तीन से चार महीने के बीच में ही लग सकेगी।

पूरे देश में सबसे बड़ा कंफ्यूजन है कोविशील्ड की डोज को लेकर
देश में कोविशील्ड ही ऐसी वैक्सीन है जिसकी डोज लगने के साथ से लेकर अब तक दो बार इसकी डोज लगवाने की समय सीमा बढ़ाई जा चुकी है। चूंकि देश में सबसे ज्यादा वैक्सीन इस वक़्त कोविशील्ड ही लग रही है इसलिए सबसे ज्यादा असमंजस में बने रहने वाले लोग भी इसी वैक्सीन की पहली डोज लगवाने वाले लोग हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक लोगों में कोई भ्रम नहीं होना चाहिए। एकदम स्पष्ट है जिन लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है, अब उन्हें दूसरी खुराक तीन से चार महीने बाद ही लगेगी। अधिकारियों का कहना है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की कमिटी ने पाया है कि कोविशील्ड को लेकर इम्युनिटी तीन से चार महीने के दौरान सबसे बेहतर हो जाएगी।

पहले अंतर चार से आठ हफ्ते का था
कोविशील्ड की दो डोज के बीच गैप को लेकर लंबे समय से बहस जारी है। तीन महीनों में यह दूसरी बार है, जब इस वैक्सीन के डोज के अंतराल को बढ़ाने की सिफारिश की गई है। मार्च में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 28 दिनों से 6-8 हफ्तों तक अंतराल बढ़ाने के लिए कहा गया था। अब यह अंतराल 6-8 हफ्तों से बढ़ाकर 12-16 हफ्ते कर दिया गया है। हालांकि जब इसके अंतराल को लेकर टाइमिंग बढ़ाई गई थी, तो भी बहुत से लोगों ने सवाल उठाए थे कि नीति निर्धारक यह तय क्यों नहीं कर पा रहे हैं कि कोविशील्ड की इम्युनिटी कितने दिनों में ज्यादा स्ट्रांग होने लगेगी

एक्सपर्ट्स का कहना है कि वैक्सीन के अंतराल को बढ़ाने की समय सीमा के दौरान यह ध्यान रखना बेहद ज़रूरी है कि वायरस अपना स्वरूप बदल रहा है। ऐसे में वैक्सीन की उपयोगिता चार महीने बाद भी उतनी की प्रभावी हो। इसके अलावा यह भी पहले बढ़ाई गई अंतराल की समय सीमा के दौरान सवाल उठा था कि लोगों को अपनी डोज लगवानी है इसका ध्यान रखा जाए। कहीं लंबे अंतराल से लोग डोज की टाइमिंग न भूल जाएं।

भीम जायसवाल सोनभद्र के दुद्धी निवासी है।कुछ कर गुजरने की ललक के कारण आज जिले की पत्रकारिता मे एक जाना पहचाना नाम है।

BREAKING NEWS
मिट्टी का ढूहा ढहा 2 की मौत शौचालय, आवास, बिजली उपलब्ध कराई तथा दवाई, सिंचाई व पढ़ाई मुफ्त- उपेंद्र तिवारी म्योरपुर विकासखंड अंतर्गत फसल प्रदर्शनी का किया गया आयोजन टीका और मुट्ठी भर अनाज का ढिंढोरा पीट गरीब का उपहास उड़ा रही बीजेपी सरकार-विजय सिंह गोंड नवनिर्वाचित प्रधानो का एक दिवसीय अनवासीय हुआ प्रशिक्षण अजीरेश्वर धाम मंदिर जरहा में 3 फरवरी को होगा सामूहिक विवाह रजिस्ट्रेशन के लिये करे सम्पर्क प्रधानमंत्री के महत्वपूर्ण योजना स्वच्छ व सुंदर गांव देश के तहत नवनिर्मित सामुदायिक शौचालय का हुआ शु... दुद्धी में बेहतर स्वास्थ्य सुविधा की हो व्यवस्था- आइपीएफ हिण्डाल्को में तीन दिवसीय सड़क सुरक्षा प्रशिक्षण शिविर का आयोजन आदिवासी समाज की भूमि लूटी जा रही है भाजपा सरकार में-विजय सिंह गोंड
scroll to top