Close

रेलवे प्रशासन ने प्रीतनगर वासियों को दिया नोटिस मचा हड़कम्प

चोपन/ सोनभद्र (गुड्डू मिश्रा) जहा एक तरफ पूरे देश में कोरोना महामारी एक बार फिर तेजी से पैर पसार रही है लोग बाग अपनी जान अपने परिवार की जान कैसे बचायें कैसे रोजी रोजगार चलाये ऐसे तमाम दुश्वारियों से परेशान और चिंतित हैं तो वहीं स्थानीय रेलवे प्रशासन दर्जनों लोगों को नोटिस थमा कर और भी परेशानी में डाल दिया है| गौरतलब है कि बिते गुरूवार को पूर्व मध्य रेलवे चोपन के द्वारा प्रीतनगर के कई एकड़ भूमि को रेलवे की भूमि बताते हुए दर्जनों लोगों को नोटिस थमाया जिसके बाद लोगों में रेलवे के प्रति काफी आक्रोश व्याप्त हो गया| जिस भुमि को रेलवे अपनी मान रही है उस भुमि पर दर्जनों लोग अपने मकान बना चुके हैं और अपने परिवार के साथ वर्षों से रह रहे हैं जिनको रेलवे द्वारा नोटिस दिया जा रहा है जिसमे 15 दिन के अंदर रेलवे भूमि को खाली करने का अल्टीमेटम है। वहीं रहवासियों का कहना है कि जब हम लोगों ने बाकायदा सारे नियम कानून का पालन करते हुए राजस्व देकर इस जमीन को खरीदा है तो इस तरह से रेलवे द्वारा नोटिस देना समझ से परे है । वही पूर्व मध्य रेलवे के अधिकारियों द्वारा इसे सिरे से खारिज किया जा रहा है । पूर्व मध्य रेल के अधिकारियों का कहना है की गलत तरीके से जमीन की हेराफेरी की गई है यह रेलवे की भूमि है जिसे हर हाल में खाली करना पड़ेगा। रेलवे के बड़े अधिकारियों द्वारा निर्देशित करने के बाद स्थानीय रेल अधिकारी ए ई एन, आई ओ डब्ल्यू व रेलवे की समस्त प्रशासनिक टीम के द्वारा लगभग दर्जनों लोगों को रेलवे की नोटिस बांटी गई। वहीं रेलवे द्वारा इस महामारी कोविड के बीच जहाँ लोगों को जान बचाने के लाले पड़े हुये हैं ऐसे में इस तरह से अचानक नोटिस बाटने से लोगों में काफी आक्रोश व्याप्त है | बताते चले कि पिछले वर्ष भी रेलवे द्वारा दर्जनों मकानों को नोटिस जारी कर खाली करवाया जा चुका है वहीं जिसने खाली नहीं किया उसे जेसीबी लगा कर धरासायी कर दिया गया और अब एक बार फिर रेलवे प्रशासन द्वारा प्रीतनगर में नोटिस जारी किया गया है देखना होगा इस बार क्या होता है वहीं चर्चाओं की माने तो स्थानीय स्तर के कुछ रेलवे के अधिकारी नोटिस जारी कर धन भी ऐंठ रहे हैं| इस बाबत आईवोडब्लू रतन शंकर ने बताया कि विभाग द्वारा जिनको भी नोटिस जारी किया गया है उनके पास किसी भी प्रकार का कोई कागजात मौजूद नहीं है अगर उनके पास कोई कागजात मौजूद है तो सन् 63 से पहले के कागजात हमारे पास प्रस्तुत करें उनको सहूलियत प्रदान की जाएगी जब संवाददाता द्वारा वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौरान नोटिस जारी करने के बारे में जानकारी ली गई तो आई ओ डब्ल्यू द्वारा यह कहा गया कि वैश्विक महामारी कोविड-19 से हमें कुछ लेना देना नहीं है बहुत ज्यादा करेंगे तो दो-चार दिन का और अतिरिक्त समय दे देंगे इससे ज्यादा हम कुछ नहीं कर सकते।

भीम जायसवाल सोनभद्र के दुद्धी निवासी है।कुछ कर गुजरने की ललक के कारण आज जिले की पत्रकारिता मे एक जाना पहचाना नाम है।

BREAKING NEWS
ईद के चाँद का हुआ दीदार, ईद शुक्रवार को गांव की  मुखिया निर्वाचित होते ही ग्रामीणों की सेवा में जुटी संगीता जायसवाल शक्तिनगर एसएचओ मिथिलेश मिश्रा ने ईद के मद्देनजर पीस कमेटी की बैठक किया गाँवों , गलियों को सेनेटाइजेशन का कार्य शुरू, आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ती ने गाये करोना गीत सदर विधायक ने खुद संभाली ग्राम पंचायतों मे सैनिटाइजेशन की कमान पिपरी मे हुइ हत्या का हुआ खुलासा अंजनी राय ने आरोपी को किया गिरफ्तार चोपन मे रेलकर्मियों के बीच होम्योपैथी दवा वितरित की गई यादों में हमेशा जीवंत रहेगा कर्मयोगी अमरदीप- राकेश श्रीवास्तव भारती इंटर कॉलेज विंढमगंज के वरिष्ठ लिपिक व कोन ब्लॉक के कुड़वा गाँव के पूर्व प्रधानपति समाजसेवी इंद्... सड़ियल बिजली उपकरण के कारण चार दिन से आपूर्ति बंद, जनजीवन अस्त व्यस्त
scroll to top