Close

हाथीनाला में पानी को लेकर हाहाकार

यात्रियों को पानी के लिए तरसना पड़ रहा

मन्दिर का समरसेबल भी खराब

(दुद्धी)सोनभद्र- गर्मी के दिन आते ही पानी की कमी से हाथीनाला क्षेत्र में हाहाकार की स्थिति पैदा हो गई है ।लोगो को पीने के पानी के साथ साथ नहाने, मुँह धोने व शौच आदि जाने के लिए सोचना पड़ रहा है ।मंदिर जाने वाले लोगो को हाथ मुँह धोने के लिए भी पानी नही मिल रहा है। हाथीनाला स्थित होटल वाले तो और परेशान हैं ,वे लोग भी 2 किलोमीटर दूर से पानी लाने को विवश हैं।कभी कभार थाना परिसर से पानी लाकर लोगो की प्यास बुझा रहे है लेकिन यदि कोई ट्रक चालक को एक बाल्टी पानी की आवश्यकता हो गई तो उसे जूझना पड़ रहा है।
सुबह जब भाजपा नेता डीसीएफ चेयरमैन सुरेन्द्र अग्रहरि जिला मुख्यालय जाने के दरम्यान हाथीनाला मन्दिर पर दर्शन करने के लिए रुके तो पानी की स्थिति देख मर्माहत हुए।मंदिर के पुजारी ने बताया कि दो तीन दिनों से समरसेबल खराब है।पानी नही मिल पा रहा है । छोटा सा होटल चलाने वाले पप्पू ने कहा कि पानी की बिकट समस्या है ।अगर यही स्थिति रही तो आनेवाले दिनों में स्थिति और भयावह हो सकती हैं। डीसीएफ चेयरमैन सुरेन्द्र अग्रहरि ने जिला प्रशासन से अविलम्ब इस क्षेत्र में पानी की आपूर्ति कराये जाने की माँग की है। इस दौरान रामसुन्दर निषाद, शिवशंकर यादव, रामबली, गोपाल, छोटु, नीरज निषाद ,पप्पू ,उमा तिवारी ने बाल्टी ,डब्बा लेकर पानी के लिए प्रदर्शन किया।

राम आशीष यादव सोनभद्र के विंडमगज निवासी है।कुछ कर गुजरने की ललक के कारण कम समय मे ही राम आशीष यादव आज जिले की पत्रकारिता मे एक जाना पहचाना नाम है।

BREAKING NEWS
ब्रेकिंग-दुद्धी के बघाडू गांव में कॅरोना मरीज की मौत से हड़कंप ब्रेकिंग-सेवानिवृत्त डीआईजी व पूर्व विधायक सीएम प्रसाद का निधन जिले की फुटकर दुकानों के खुलने व बंद करने की समय होगी सुबह 7 से शाम 7-जिलाधिकारी हिण्डाल्को रेणुकूट क्लस्टर प्रमुख ने लोगो को करोना से बचाव हेतु किया जागरुक प्रभारी निरीक्षक ने प्रत्याशियों को चुनाव आचार संहिता का पढ़ाया पाठ पांच दिनों तक सोंनभद्र का कैसा मौषम रहेगा जानने के लिए देखे पूरी खबर अनुरक्षण के अभाव में पानी सप्लाई कार्य फ्लाप, दर्जनों हैंड पम्प खराब पेयजल के लिए हाहाकार उत्तर प्रदेश में आइपीएफ की दलित राजनीतिक गोलबंदी की पहल रेलवे अस्पताल में रेलकर्मियों ने लगवाई वैक्सीन कलश स्थापना के साथ ही 9 दिनों तक चलने वाला चैत्र नवरात्र प्रारंभ
scroll to top