Close

इंस्पेक्टर अबरार अहमद बने डीएसपी

इंस्पेक्टर अबरार अहमद बने डीएसपी। आम जनमानस मे सौम्य स्वाभाव के अपने कर्तव्य के प्रति ईमानदार और वर्दी का खौफ आम जनता से मिटाकर निस्वार्थ सेवा से काम करने वाले अबरार अहमद कम समय में जो शोहरत पायी है वो काबिलेतारीफ है। आज अबरार अहमद किसी परिचय के मोहताज नही है कहते है न प्रतिभा किसी परिचय का मोहताज नही होता है। यही बाते लागु होती है तेज तर्रार पुलिस आफिसर अबरार अहमद पे। उनके पर किसी भी प्रकार का दबाब काम नहीं करता है। इंसाफ पसन्द व सरल स्वाभाव के अबरार अहमद कहते हैं के दुर्दांत अपराधियों का अंत करना और पीड़ित को न्याय के लिए अपराधियो को न्यायालय तक पहुचाना ही वर्दी पहनने का मुख्य मकसद है। इन्होने अपने कार्यकाल में अपने विभाग के प्रति उत्तरदायित्व का बखूबी निर्वहन किया है। आपको बताते चले के इलाहाबाद हंडिया आरा खुर्द निवासी अबरार अहमद की पुलिस विभाग मे जाइनिंग 1990 मे सब इंस्पेक्टर के पद पे हुइ थी। ये बलिया,मऊ, गाजीपुर,सोनभद्र,वाराणसी मे अपनी सेवा दे चुके है। वर्तमान मे इनकी पोस्टिंग पावर कारपोरेशन कौशांबी मे है। अबरार अहमद के डीएसपी बनने के बाद लोगो का बधाइया देने का सिलसिला जारी है।

इन्होने अपनी सफलता को अपने माता पिता को समर्पित किया और कहा आज जो मै हु अपने माता पिता की दुआओ और अपनी मेहनत की वजह से हु। अंत में उन्होने कहा के
“सख्त राहों में भी आसान सफ़र लगता है
ये मेरी माँ की दुआओं का असर लगता है”
“बुलंदियों का बड़े से बड़ा मुकाम छुआ
उठाया गोद में माँ ने तब आसमान छुआ”

BREAKING NEWS
ब्रेकिंग-दुद्धी के बघाडू गांव में कॅरोना मरीज की मौत से हड़कंप ब्रेकिंग-सेवानिवृत्त डीआईजी व पूर्व विधायक सीएम प्रसाद का निधन जिले की फुटकर दुकानों के खुलने व बंद करने की समय होगी सुबह 7 से शाम 7-जिलाधिकारी हिण्डाल्को रेणुकूट क्लस्टर प्रमुख ने लोगो को करोना से बचाव हेतु किया जागरुक प्रभारी निरीक्षक ने प्रत्याशियों को चुनाव आचार संहिता का पढ़ाया पाठ पांच दिनों तक सोंनभद्र का कैसा मौषम रहेगा जानने के लिए देखे पूरी खबर अनुरक्षण के अभाव में पानी सप्लाई कार्य फ्लाप, दर्जनों हैंड पम्प खराब पेयजल के लिए हाहाकार उत्तर प्रदेश में आइपीएफ की दलित राजनीतिक गोलबंदी की पहल रेलवे अस्पताल में रेलकर्मियों ने लगवाई वैक्सीन कलश स्थापना के साथ ही 9 दिनों तक चलने वाला चैत्र नवरात्र प्रारंभ
scroll to top