सोनभद्र

सोन,कनहर,पांगन नदी मे अवैध खनन पर जलपुरुष ने जतायी चिंता

म्योरपुर/सोनभद्र (विकास अग्रहरि) नदियो में बालू के खनन और दोहन से नदी का फेफड़ा सुख जाता है और नदी बीमार हो जाती है। जिसका असर हमारे शरीर पर पड़ता है इस चक्र को समझना जरूरी है। नदी की हत्या कर खनन करने वालो के खिलाफ स्थानीय जनता को आगे आने की जरूरत है। उक्त बातें प्रख्यात पानी कार्यकर्ता और मैग्ससे पुरस्कार से समानित जल पुरुष राजेन्द्र सिंह राणा ने वनवासी सेवा आश्रम में दो दिवसीय महिला शिविर को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने ने कृषि कानून को जबरन ठोका गया कानून बताते हुए कहा कि यह कानून किसनो को गुलाम बना देगी। उन्होंने सोन,कनहर,और पांगन नदी में होने वाले खनन को लेकर चिंता जतायी और महिलाओ का आह्वान किया कि वे नदियों को बचाने के लिए आगे आये।कहा कि यह आप की नैतिक जिमेवारी है कि धरती पर हरियाली लाने का प्रयास करे और प्राकृतिक संसाधनों को लूटने वालो के खिलाफ अहिंसात्मक लड़ाई लड़े। कहा कि कंपनियां धरती को लूट कर प्राकृतिक संसाधनों का दोहन और अतिक्रमण करती है उससे प्रदूषण बढ़ता है, और धरती तथा हमारा स्वास्थ्य खराब होता है।कहा कि सोनभद्र की मिट्टी हवा,पानी सब प्रदूषित हो गया है।यह पूंजीपतियों का ही देन है।आज हमारा अधिकार छीना जा रहा है।हम विवश किये जा रहे है।लेकिन हमें चुप नही बैठना है हमारे पास ताकत है वह है लोक की ताकत, जिससे तंत्र को ठीक किया जा सकता है। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका में 37 देशों में पानी की समस्या का उदाहरण देते हुए बताया कि लोग पानी के अभाव में देश छोड़ कर विस्थापित हो रहे है। उंन्हे बसने की जगह नही मिल रही।आने वाले समय मे यही हाल रहा तो हम बिना पानी के हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि नदियों पहाड़ो और जंगलो को बचाने के लिए युवाओं,छात्रों ,आम जनों और तंत्र सबको आगे आना चाहिए।कहा कि जो लोग इसके लिए संघर्ष कर रहे है उंन्हे निराश नही होना।आजादी की लड़ाई 1857 से शुरू होकर 1947 तक 90 साल चली। हमे अहिंसात्मक तरीके से संघर्ष करते रहना है।

Related Articles

Back to top button
BREAKING NEWS
म्योरपुर कस्बे का मूल्यांकन कर शासन को जल्द भेजी जाएगी रिपोर्ट- तहसीलदार बृजेश कुमार वर्मा भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्रशेखर आजाद के जन्मदिन के अवसर पर भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष ने मरीजो को बांट... सम्पूर्ण समाधान दिवस में 25 में 5 मामलों का मौके पर निस्तारण दुद्धी को जिला बनाए जाने को लेकर अधिवक्ताओं ने किया प्रदर्शन कायाकल्प योजना की टीम ने सीएचसी दुद्धी का किया निरीक्षण स्वस्थ समाज के निर्माण के लिए पुस्तकों का अध्ययन आवश्यक - एसएन सिंह पावर सेक्टर के निजीकरण पर लगे रोक -वर्कर्स फ्रंट अधिवक्ता दिवस के रूप में मना डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद का जन्मदिवस महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में गीता जयंती की पूर्व संध्या पर संगोष्ठी का हुआ आयोजन करंट की जगह चपेट में आने से युवक की मौत
Download App