सोनभद्र

इम्तियाज हत्याकांडः नामजद आरोपियो के मसले पर सीजीएम कोर्ट करेगा सुनवाई

नामजद आरोपियों के मसले पर सीजीएम कोर्ट करेगा सुनवाई
विवेचना की कमियों के दृष्टिगत जिला एवं सत्र न्यायाधीश का आदेश
सीबीआईडी द्वारा दी गई क्लीनचिट को वादी पक्ष दे रहा चुनौती

सोनभद्र (विकास द्विवेदी/नौशाद अन्सारी) बहुचर्चित चेयरमैन इम्तियाज हत्याकांड में सीबीसीआईडी से क्लीन चिट पाए दो प्रमुख खनन व्यवसायियो सहित तीन को सुनवाई (विचारण) के लिए तलब करने और अग्रिम विवेचना कराने के मसले पर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत सुनवाई करेगी। वादी उस्मान अली की तरफ से दाखिल अपील (रिवीजन) को स्वीकार करते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत ने यह आदेश पारित किया है। अधिवक्ता अमन खान ने राबटर्सगंज में पत्रकारो से वार्ता कर इसकी जानकारी दी। इसके लिए वादी को दो मार्च को सीजीएम कोर्ट में उपस्थित होकर पक्ष रखने के लिए कहा गया है। चोपन नगर पंचायत के चेयरमैन रहे इम्तियाज अहमद की 25 अक्टूबर 2018 को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मौके से लोगो ने झारखंड के प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन जेजेएमपी के एरिया कमांडर कश्मीरा पासवान को कारबाइन के साथ दबोच लिया था। उससे पूछताछ में मिली जानकारी के बाद चोपन पुलिस और एसटीएफ ने विवेचना के दौरान आठ लोगों तथा झारखण्ड व बिहार पुलिस ने तीन को गिरफ्तार किया था। नामजद आरोपी राबटर्सगंज निवासी रवि जालान और वाराणसी निवासी राकेश जायसवाल और पुलिस की विवेचना के दौरान आरोपी पाए गए सर्वेद्र मिश्रा निवासी वाराणसी की तलाश जारी रखते हुए गिरफ्तार आरोपियो के खिलाफ चार्जशीट न्यायालय में प्रेषित कर दी गई। सीजेएम की अदालत से फरार चल रहे आरोपियो के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी किया गया। इसी बीच विवेचना सीबीसीआईडी को ट्रांसफर हो गई। सीबीसीआईडी ने उक्त तीनो आरोपियो को क्लीन चिट देते हुए रिपोर्ट अदालत मे दाखिल कर दी। विवेचना में कई अहम बिंदुओं की अनदेखी करने और आरोपियों के खिलाफ मजबूत साक्ष्य होने के बावजूद उसका संज्ञान न लेने की बात कहते हुए उस्मान ने सीबीसीआईडी की रिपोर्ट को चुनौती दी। सीजेएम कोर्ट ने तात्कालिक स्टेज पर इसका संज्ञान न लेने की बात कहते हुए प्रार्थना पत्र खारिज कर दिया और क्लीन चिट वाली रिपोर्ट स्वीकार कर ली। तब वादी ने इस आदेश से क्षुब्ध होकर जनपद एवं सत्र न्यायाधीश के यहां रिवीजन दाखिल किया। सुनवाई के दौरान अदालत ने पाया कि विवेचना में लापरवाही बरती गई है। कई महत्वपूर्ण साक्ष्यों को अनदेखा किए जाने की भी बात सामने आई। इसको गंभीर मसला मानते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश रजत सिंह जैन ने अपील स्वीकार करने के साथ ही वादी के प्रोटेस्ट प्रार्थना पत्र को खारिज करने और क्लीनचिट वाली रिपोर्ट स्वीकार करने के आदेश को निरस्त कर दिया। आदेश पारित किया कि सीजेएम कोर्ट उनके निर्णय के आलोक में प्रोटेस्ट प्रार्थनापत्र पर फिर से सुनवाई करे और पुलिस तथा सीबीसीआईडी रिपोर्ट और वादी द्वारा प्रस्तुत किए जाने वाले साक्ष्यों का भलीभांति परिशीलन करने के बाद उचित निर्णय पारित करे।

Related Articles

Back to top button
BREAKING NEWS
श्रीराम कथा के अंतिम दिन रावण बध लँका पर विजय अयोध्या वापसी के बाद जश्न में डूबे श्रोता डीजे के साथ शांतिपूर्ण माहौल में विसर्जित हुई मां दुर्गा की प्रतिमाएं बकरिहवाँ में अधर्म पर धर्म की विजय राम ने किया रावण वध अधर्म पर धर्म की विजय राम ने किया रावण का वध घर की बढेर से लटकता मिला वृद्धा का शव बलिया शहर कोतवाल प्रवीण सिंह भारी बरसात में भीगते हुये वर्दी का फर्ज निभा श्रद्धालुओं की मदद करते नज... नौ कन्या पूजन, हवन पूर्णाहुति के साथ नवरात्रि अनुष्ठान हुआ सम्पन्न चोरों ने दो खड़े ट्रैक्टर से गायब किये बैटरी पिपरी में भव्य गरबा कार्यक्रम की रही धूम आदि शक्ति सिद्धिदात्री की प्रतिमा की हुई प्राण प्रतिष्ठा