Close

चोपन बैरियर पर चल रहे रासलीला का आठवें दिन सुदामा के चरित्र की लीला का मंचन किया गया

चोपन/सोनभद्र (गुड्डू मिश्रा) चोपन बैरियर पर चल रहे रासलीला का आठवें दिन सुदामा के चरित्र की लीला का मंचन किया गया। भगवान श्रीकृष्ण जब संदीपन मुनी के पास शिक्षा ग्रहण करने के लिए गये तो उनकी मित्रता सुदामा जी से हो गयी। एक बार जब वन में लकड़ी लेने सुदामा के साथ गये थे। तब गुरु माता के द्वारा दिया गये चने को सुदामा खा जाते तो जब संदीपन मुनी को यह बात पता चलता है तो संदीपन मुनी श्राप दे देते हैं । शिक्षा समाप्त हो जाने के बाद सभी अपने राज्य को वापस आ जाते हैं। भगवान श्रीकृष्ण द्वरिका के राजा और सुदामा गरिब ब्राह्मण के रूप में किसी तरह से जीवन कर रहे थे पत्नी के बार बार कहने पर सुदामा जी भगवान श्रीकृष्ण से मिलने के लिए द्वरिका जाते हैं। जब द्वरिका पहुंचते हैं। तो द्वारपाल सुदामा को रोक देते हैं। और कहते हैं कि भगवान श्रीकृष्ण हमारे मित्र हैं तो द्वारपाल उनकी हसी उडाते हैं। उधर जैसे ही भगवान श्रीकृष्ण को मित्र सुदामा की आने की सूचना मिलती है। तो भगवान श्रीकृष्ण नग्गे पाव ही अपने मित्र सुदामा से मिलने के लिए जाते हैं तो सुदामा जी के पाव के छाले को देख कर रोने लगते हैं और अपने आंसू से सुदामा जी के चरण धोते हैं। उनको नये वस्त्र पहनकर स्वागत करते हैं। उसके उपरान्त भागवान श्री कृष्ण सुदामा द्वारा लाये चावल का सेवन करते हैं और सुदामा जी की दरिद्रता को दुर कर देते हैं।इस अवसर पर राजेश साहनी, प्रदीप अग्रवाल, विमल साह, अजय सिंह ,महेंद्र केशरी, सुनील सिंह,विनोद साहनी, संतोष गुप्ता,सचिन तिवारी, सहित आदि लोग बाग मौजूद रहे।

BREAKING NEWS
Test वरिष्ठ परामर्शदाता जिला चिकित्सालय बने डा विजय कुमार यादव म्योरपुर सांगोबांध मार्ग पे ओवरलोड परिवहन मे 7 ट्रक सीज 3 का चालान ओवरलोड परिवहन में 8 ट्रक सहित दो ट्रैक्टर सीज,कार्यवाही जारी चाचीकला चौकी इंचार्ज मुहम्मद अरशद ने ईद के मद्देनजर पीस कमेटी की बैठक किया भरतूआ बंदूक मामले में पुलिस ने अभियुक्त को पकड़कर भेज न्यायालय अवैध खनन में लिप्त ट्रैक्टर को प्रशासन ने पकड़कर किया सीज अवैध खनन कर रहे 2 ट्रैक्टर को विनोद सोनकर ने पकड़ किया सीज पुलिस द्वारा शाहगंज, रामपुर बरकोनिया, जुगैल एवं म्योरपुर क्षेत्रों मे की गयी सघन कॉम्बिंग उर्जाचल ऑक्ससीज बैंक बुजुर्गों को वैक्सीनेशन लेने के लिए निःशुक पहुचायेगी अस्पताल-पंकज मिश्रा
scroll to top