सोनभद्र

अधिनायकवाद के विरुद्ध होगा लोकतांत्रिक आंदोलन- आइपीएफ

लखनऊ।
दिल्ली पुलिस द्वारा दिल्ली दंगों की चार्जशीट में सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी, स्वराज इंडिया अध्यक्ष योगेन्द्र यादव, अपूर्वानंद, राहुल राय और जयति घोष समेत तमाम बुद्धिजीवियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं के अभियुक्त न होते हुए भी नाम डालना सामान्य राजनीतिक लोकतांत्रिक गतिविधियों का अपराधीकरण करना है. आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट की राष्ट्रीय कार्यसमिति अपने राजनीतिक प्रस्ताव में इसकी निंदा करती है. आइपीएफ यह भी प्रस्ताव लेता है कि केवल सीएए/एनआरसी विरोधी प्रदर्शनों में भाग लेने तथा दिल्ली दंगों के षड्यंत्र में शामिल रहने का कोई भी सुबूत न होने पर भी उमर खालिद की गिरफ्तारी तथा उस पर यूएपीए लगाने की दिल्ली पुलिस की कार्रवाही अन्यायपूर्ण और उत्पीड़नात्मक है. आरएसएस और भाजपा की मोदी सरकार को इस तरह की राजनीतिक वैचारिक बदले की कार्रवाई से बाज आना चाहिए यह लोकतंत्र के लिए शुभ नहीं है. आइपीएफ यूएपीए तथा एनएसए जैसे काले कानूनों को ख़त्म करने की अपनी मांग को पुनः दोहराता है.
आइपीएफ यह महसूस करता है कि देश में बढ़ रहे अधिनायकवाद के खिलाफ सभी लोकतांत्रिक शक्तियों को एक मंच पर एकताबद्ध होकर इसका मुकाबला करना चाहिए. आइपीएफ ने आज रोजगार को मौलिक अधिकार बनाने के लिए युवा मंच समेत सभी छात्र युवा संगठनों के द्वारा चलाएं गये अभियान और किसान विरोधी अधिनियमों के खिलाफ किसानों मजदूरों के आंदोलन को सफल बनाने के लिए बधाई देते हुए इससे बनी एकता को एक राजनीतिक ताकत में बदलने की अपील भी की. यह राजनीतिक प्रस्ताव आइपीएफ के राष्ट्रीय प्रवक्ता एस. आर. दारापुरी ने प्रेस को जारी किया.

Md.shamim Ansari

मु शमीम अंसारी कृषि स्नातकोत्तर (प्रसार शिक्षा/जर्नलिज्म) इलाहाबाद विश्वविद्यालय (उ.प्र.)

Related Articles

Back to top button
BREAKING NEWS
म्योरपुर कस्बे का मूल्यांकन कर शासन को जल्द भेजी जाएगी रिपोर्ट- तहसीलदार बृजेश कुमार वर्मा भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्रशेखर आजाद के जन्मदिन के अवसर पर भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष ने मरीजो को बांट... सम्पूर्ण समाधान दिवस में 25 में 5 मामलों का मौके पर निस्तारण दुद्धी को जिला बनाए जाने को लेकर अधिवक्ताओं ने किया प्रदर्शन कायाकल्प योजना की टीम ने सीएचसी दुद्धी का किया निरीक्षण स्वस्थ समाज के निर्माण के लिए पुस्तकों का अध्ययन आवश्यक - एसएन सिंह पावर सेक्टर के निजीकरण पर लगे रोक -वर्कर्स फ्रंट अधिवक्ता दिवस के रूप में मना डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद का जन्मदिवस महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में गीता जयंती की पूर्व संध्या पर संगोष्ठी का हुआ आयोजन करंट की जगह चपेट में आने से युवक की मौत
Download App