सोनभद्र

ग्राम पंचायतों का भुगतान न होने से श्रमिकों के सामने आर्थिक संकठ , पलायन के कगार पर मजदूर

बीजपुर(विनोद गुप्त ): बकरीद, कृष्ण जन्माष्टमी जैसे त्योहारों पर भी ग्राम पंचायत में काम कर रहे मजदूरों को मजदूरी ना मिलने से उनके समक्ष आर्थिक संकट उत्पन्न हो गया है l गांव में काम करने के बाद मजदूर अपना मेहनताना पाने के लिए रोजगार सचिव से लेकर ब्लॉक तक दरबदर भटक रहे हैं , वही ग्राम प्रधान नई व्यवस्था पर मजदूरों को ही ताना देने में लगे हुए हैं की उन्हें कैश भुगतान का अधिकार होता तो कब का मजदूरी भुगतान कर दिया गया होता l नए सिस्टम के तहत मजदूरी भुगतान सीधे खंड विकास अधिकारी कार्यालय से डोंगल सिस्टम के द्वारा किया जा रहा है l
प्राप्त जानकारी के अनुसार म्योरपुर ब्लाक के बीजपुर , सिरसोती ,नेमना ,पिंडारी ,जरहा ,सिंदूर ,महरीकला ,महुली ,
रजमिलान ,झींलो ,खमरिया ,
लीलाडेवा, डोडहर आदि एक दर्जन ग्राम पंचायतों में डोंगल प्रक्रिया के कारण मजदूरों के समक्ष भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है l डोंगल ना चलने का कारण बताकर ग्राम प्रधानों, ग्राम विकास अधिकारियों एवं ब्लॉक के कर्मियों द्वारा मजदूरों को यहां वहां दौड़ाया जा रहा है l डोंगल के चक्कर में प्रवासी श्रमिक भी मनरेगा ,शौचालय निर्माण ,आवास निर्माण आदि कार्यों में काम करने के बाद मजदूरी ना मिलने से आर्थिक तंगी का शिकार हो चुके हैं l कई गांव में तो हैंडपंप अनुरक्षण का भुगतान न होने से हैंडपंप के मरम्मत की प्रक्रिया रोक दिए जाने से लोगों के सामने पेयजल संकट उत्पन्न हो गया है l विगत 1 सप्ताह पूर्व हैंडपंप मरम्मत को लेकर ग्राम पंचायत सिंदूर में ग्रामीणों द्वारा प्रदर्शन कर हैंडपंप बनवाने की गुहार जिला प्रशासन और क्षेत्रीय विधायक से लगाया गया था l ग्रामीण मजदूरों के अनुसार कोरोना काल में सरकार द्वारा गांव में ज्यादा से ज्यादा रोजगार सृजन कर लोगों को रोजगार देने एवं समय पर भुगतान करने का आदेश दिया गया है लेकिन महीनों बीत जाने के बाद भी मजदूरी भुगतान न होने से गांव में नया काम भी नहीं खोला जा रहा है जिससे मजदूर घर बैठकर काम के अभाव में परेशानी झेल रहे हैं l
डोंगल ना लगने के कारण क्षेत्र में सामग्री आपूर्ति करने वाले ठेकेदारों का भी बुरा हाल है l सीमेंट सरिया बालू आपूर्ति करने वाले दुकानदारों द्वारा भी ग्राम पंचायत के ठेकेदार से प्रतिदिन तगादा किया जा रहा है लेकिन सभी के द्वारा सिर्फ डोंगल का बहाना बनाकर टालमटोल किया जा रहा है l ग्रामीणों ने खंड विकास अधिकारी म्योरपुर का ध्यान आकृष्ट करा कर जल्द से जल्द मजदूरी भुगतान एवं सामग्री भुगतान कराए जाने की मांग की है एवं गांव में विकास कार्यों में तेजी लाए जाने के लिए मांग किया है l
इस संबंध में एडीओ पंचायत रवि दत्त मिश्रा ने बताया कि मनरेगा में भुगतान अगर लंबित है तो उसकी जिम्मेदारी खंड विकास अधिकारी की बनती हैl
14 वा वित्त का भुगतान रुका हुआ है तो ग्राम प्रधान उन्हें अवगत कराएं रही बात डोंगल की अगर वह खराब हो जाता है तो उसमें वह कुछ नहीं कर सकते।

Related Articles

Back to top button
BREAKING NEWS