सिंगरौली

मजदूरों की मौत के लिए मोदी सरकार जिम्मेदार – दिनकर

औरंगाबाद और लखनऊ में हुई मौतों पर वर्कर्स फ्रंट ने व्यक्त की संवेदना

50 लाख मुआवजा दे सरकार

सोनभद्र (मु.शमीम अंसारी/संतोष सोनी)।, आज सुबह औरंगाबाद में ट्रेन से छत्तीसगढ अपने घर लौट रहे 14 प्रवासी श्रमिकों की ट्रेन से कटकर और साईकिल से लखनऊ से छत्तीसगढ़ जा रहे पति पत्नी श्रमिकों की वाहन से कुचलकर हुई मौतों पर अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए वर्कर्स फ्रंट ने इसके लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है और केन्द्र सरकार से हर मृत श्रमिकों को 50 लाख रूपया गुआवजा देने की मांग की है। वर्कर्स फ्रंट के अध्यक्ष दिनकर कपूर ने प्रेस को जारी अपने बयान में कहा कि बिना योजना व समुचित व्यवस्था के लागू किए लाकडाऊन में प्रवासी मजदूरों को सुरक्षित उनके घरों तक पहुंचाने की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की थी। लेकिन उसे प्रवासी मजदूरों की तकलीफों-बेइंतहा परेशानियों से कोई लेना देना नहीं है। एक सर्वेक्षण के अनुसार अभी तक सैकड़ों प्रवासी मजदूर भूख-प्यास, बीमारी व दुर्घटनाओं में बेमौत मर चुके हैं। दरअसल महामारी के दौर में मजदूर सरकार के एजेण्डा में है ही नहीं और न सिर्फ उन्हें मरने के लिए छोड़ दिया गया है बल्कि उन पर घोर दमन ढहाने की ओर सरकार बढ़ रही है। हद यह है कि मजदूरों से किराया वसूली के इतने बड़े विरोध के बाद किराया न लेने के झूठ का अम्बार लगाने वाली सरकार आज भी मजदूरों से किराया वसूल रही है। आज ही सोनभद्र में गुजरात के मेहसाना से पहुंची टेªन से उतरे मजदूरों ने पत्रकारों को बताया कि उनसे 800 रूपए किराएं का लिया गया है। वर्कर्स फ्रंट ने मोदी सरकार के मजदूरों के प्रति बरती जा रही संवेदनहीनता की निंदा करते हुए प्रधानमंत्री से मांग की है कि प्रवासी मजदूरों को सुरक्षित व मुफ्त में घरों को भेजने के लिए उचित इंतजाम किये जायें और यदि दुघर्टना में उसकी मौत होती है तो उसे 50 लाख मुआवजा दिया जाए।

Md.shamim Ansari

मु शमीम अंसारी कृषि स्नातकोत्तर (प्रसार शिक्षा/जर्नलिज्म) इलाहाबाद विश्वविद्यालय (उ.प्र.)

Related Articles

Back to top button
BREAKING NEWS
म्योरपुर कस्बे का मूल्यांकन कर शासन को जल्द भेजी जाएगी रिपोर्ट- तहसीलदार बृजेश कुमार वर्मा भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्रशेखर आजाद के जन्मदिन के अवसर पर भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष ने मरीजो को बांट... सम्पूर्ण समाधान दिवस में 25 में 5 मामलों का मौके पर निस्तारण दुद्धी को जिला बनाए जाने को लेकर अधिवक्ताओं ने किया प्रदर्शन कायाकल्प योजना की टीम ने सीएचसी दुद्धी का किया निरीक्षण स्वस्थ समाज के निर्माण के लिए पुस्तकों का अध्ययन आवश्यक - एसएन सिंह पावर सेक्टर के निजीकरण पर लगे रोक -वर्कर्स फ्रंट अधिवक्ता दिवस के रूप में मना डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद का जन्मदिवस महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में गीता जयंती की पूर्व संध्या पर संगोष्ठी का हुआ आयोजन करंट की जगह चपेट में आने से युवक की मौत
Download App