प्रदेशसोनभद्र

“बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ” को व्यावहारिक रूप से लागू करने की नितांत आवश्यकता है- रूबी प्रसाद

दुद्धी, सोनभद्र। प्राथमिक विद्यालय कलकलीबहरा प्रथम में स्वर्णिम तिरंगे के नीचे आजादी के 75वें वर्षगांठ के अमृत महोत्सव को मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ जनप्रतिनिधि पूर्व विधायक श्रीमती रूबी प्रसाद जी, नगरपंचायत अध्यक्ष राजकुमार अग्रहरी जी एवं खंड शिक्षा अधिकारी महेंद्र मौर्य जी, तहसील प्रचारक रितेश कुमार जी तथा संगठन मंत्री विवेक जी के गरिमामयी आतिथ्य में माता सरस्वती को माल्यार्पण तथा दीप प्रज्वलन के साथ प्रारंभ हुआ। बच्चों, अभिभावकों, शिक्षकों तथा समस्त अतिथियों ने मां भारती की स्तुति कर मातृभूमि के वीर शहीदों, क्रांतिकारियों और देशभक्तों को श्रद्धा सुमन अर्पित किया, जिन्होंने अपने प्राणों की आहुति देकर हमें स्वर्णिम आजादी दिलायी है। विशिष्ट अतिथि नगर पंचायत अध्यक्ष श्री राजकुमारअग्रहरी ने अमृत महोत्सव के आयोजन की महत्ता समझाते हुए कहा कि समाज को कुशल नेतृत्व के द्वारा ही आगे ले जाया जा सकता है।

मुख्य अतिथि पूर्व महिला विधायक आदरणीय रूबी प्रसाद जी ने कहा कि इस आदिवासी बाहुल्य पिछड़े क्षेत्र में शासन की महत्वकांक्षी योजना ‘बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ’ को व्यावहारिक रूप से लागू करने की नितांत आवश्यकता है। बच्चों, माताओं और बहनों से अपील की कि हमें बालिका शिक्षा तथा महिला सशक्तिकरण के स्वयं अपनी पीठ थपथपानी होगी तथा आगे आना ही होगा।विद्यालय की सतत उपलब्धियों के लिए विद्यालय परिवार को बधाई देते हुए निरंतर यूं ही ऊर्जा के साथ आगे बढ़ने के लिए अभिप्रेरित किया।

बच्चों द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में बच्चों की सुंदर रैली, आकर्षक,मनमोहक रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम जिसमें ध्वज गीत, स्वागत गान, नाटक, एकांकी, भाषण कविता, देशभक्ति गीत, बालिका शिक्षा को अभिप्रेरित करता नृत्य, देशभक्ति नृत्य आदि बहुत ही सुंदर और दिव्य कार्यक्रमों की प्रस्तुति की गई। समस्त अतिथियों तथा अभिभावकों ने बच्चों का उत्साहवर्धन किया।

कार्यक्रम में आए वरिष्ठ शिक्षक श्री शैलेश मोहन, एआरपी टीम दुद्धी से श्रवण कुमार, संतोष सिंह, अखिलेश सर, मनोज जायसवाल तथा बिहारी लाल ने समस्त अतिथियों, बच्चों अभिभावकों तथा अध्यापकों को शुभकामना दिया। कहा, सोनभद्र में शिक्षा की गुणवत्ता को बनाये रखना हमारी शीर्ष प्राथमिकता है जिसके लिए हम प्रतिबद्ध हैं ।

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि खंड शिक्षा अधिकारी श्री महेंद्र मौर्य ने स्वतंत्रता दिवस की शुभकामना देते हुए शिक्षकों तथा अभिभावकों को पूर्ण मनोयोग से बच्चों की शिक्षा को लक्षित कर शिक्षा देने के लिए आवाहन किया। उन्होंने कहा कि शिक्षा ही वह अस्त्र है जो हमें हर प्रकार की गुलामी, बेड़ियों और बंदिशों से आजादी दिला सकती है तथा उन्मुक्त आकाश प्रदान कर सकती है। बच्चों का उत्साहवर्धन करते हुए उन्होंने नियमित विद्यालय आने के लिए तथा अभिभावकों को अपने बच्चों को निरंतर विद्यालय भेजने के लिए अभिप्रेरित किया।
विद्यालय में नामांकित समस्त बच्चों को कॉपी, कलर, पेंसिलबॉक्स, बिस्किट, टॉफी, मास्क तथा मिष्ठान वितरित किया गया।

विद्यालय प्रधानाध्यापिका वर्षा रानी जायसवाल ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए अपनी पूरी टीम की तरफ से कार्यक्रम में आए समस्त अतिथियों अभिभावकों तथा बच्चों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव आजादी की ऊर्जा का अमृत है। स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की स्वाधीनता का अमृत है। नए विचारों, नए संकल्पों तथा आत्मनिर्भरता का अमृत है। हमारी आने वाली पीढ़ी को इसका महत्व समझाने के लिए हम सभी संकल्पित हैं। जिससे बच्चों में छिपी अंतर्निहित प्रतिभा को तराश कर बाहर लाया जा सके। अध्यापिका सरिता वार्ष्णेय, सरिता, लक्ष्मीपुरी सिंह तथा अविनाश गुप्ता ने संकल्प लिया कि हम अपनी पूरी मेहनत, लगन तथा निष्ठा के साथ बच्चों को तराशने का कार्य करेंगे। समाजसेवी
बालकृष्ण जायसवाल जी ने कहा कि समाज को नवीन ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए हमें आगे आना होगा। नेतृत्व करना होगा, जिससे हमारे गांव, समाज तथा देश को विकास के मार्ग पर उत्तरोत्तर आगे ले जा सकें। कार्यक्रम में एसएमसी अध्यक्ष विनोद कुमार, समाजसेवी पूर्व प्रधान अजय कुमार, कामता प्रसाद जी, कृष्ण कुमार चौरसिया, जगदंबा जौहरी, श्रीमती सरिता देवी, गीता जायसवाल, सीमा जयसवाल मीरा जौहरी, विनीता मसीह, बिहारीलाल,लालता प्रसाद, अनारो, जेनेवा, जगती, शीला सुजाता, सुनीता समेत सैकड़ों अभिभावक तथा ग्रामीण उपस्थित रहकर बच्चों का उत्साहवर्धन किया।

Related Articles

Back to top button
BREAKING NEWS