सोनभद्र

पौधरोपण कर पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त रखने का लिया संकल्प

पर्यावरण संतुलन बनाए रखने को हिण्डाल्को प्रतिबद्ध – श्री एन0 नागेश

जापानी मियावाकि तकनीकी से प्रकृति को हराभरा बनाने में मिलेगी मदद- श्री एन0 नागेश

5-जून, रेणुकूट।(सोनभद्र)
जी.के.मदान
विकास के नाम पर जहां एक ओर कुछ लोग हाथों में कुल्हाड़ी लेकर तैयार खड़े हैं वहीं दूसरी ओर कुछ संस्थान ऐसे भी हैं जो पेड़ों के संरक्षण हेतु मुट्ठी बांधे बुलंद हैं। इन्हीं संस्थानों में से एक है हिण्डाल्को, जो सदैव पर्यावरण को लेकर सजग रहा है। इसी संदर्भ में इस वर्ष भी हिण्डाल्को में विश्व पर्यावरण दिवस पर प्रकृति को हरा-भरा एवं प्रदूषण मुक्त रखने के संकल्प के साथ पौधरोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

इसके अंतर्गत प्लांट-2 परिसर में अधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा वृहद स्तर पर सैकड़ों पौधे लगाकर प्रकृति को हरा-भरा रखने का संकल्प लिया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एवं हिण्डाल्को रेणुकूट के क्लस्टर हेड श्री एन0 नागेश ने कार्बन-डाई-ऑक्साइड उत्सर्जन को कम करने व प्राकृतिक संपदा के उपयोग के दौरान पर्यावरण संतुलन बनाए रखने की नसीहत दी।
इस बार की विश्व पर्यावरण दिवस की थीम – “ओनली वन अर्थ” है जिसके तहत आयोजित कार्यक्रम में हिंडाल्को पर्यावरण विभाग के प्रमुख मुकेश मित्तल ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए पर्यावरण दिवस के महत्व पर प्रकाश डाला। साथ ही उन्होंने जापानी तकनीकी मियावाकि प्लांटेशन के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कैसे कम क्षेत्रफल में मियावाकि तकनीकी द्वारा 1 स्क्वायर मीटर एरिया में 3 पौधों को लगा कर मानवनिर्मित घने जंगलों का निर्माण किया जाता है। इस प्रकार से लगाए गए पेड़ ऊपर की ओर से सूर्य के प्रकाश को प्राप्त करते हैं जिससे वह किनारे से न बढ़ कर ऊपर की ओर बढ़ते हैं। साथ ही सामान्य विधि द्वारा उगाए गए पेड़ों से 30 गुना अधिक घने होने के साथ- साथ 10 गुना तेज़ी से बढ़ते हैं। इस विधि से रोपित किये गए पौधों को 3 वर्ष के बाद किसी प्रकार के देखभाल की आवश्यकता नहीं होती। यह स्वयं ही अपनी जरूरतों को पूरा करने में सक्षम हो जाते हैं। इस विधि द्वारा उगे पेड़ों की खासियत होती है कि वह सामान्य पेड़ो से 30 गुना अधिक कार्बन- डाई- ऑक्साइड अवशोषित करते हैं। यह आसपास की आबादी को धूल एवं ध्वनिरहित माहौल देने में भी सहायक होते है।
इस अवसर पर श्री नागेश जी ने पिछले वर्ष संस्थान द्वारा पर्यावरण संरक्षण को लेकर किए गए प्रयासों की व्यापक चर्चा की। उन्होंने प्लांट से लेकर कॉलोनी में पौधरोपण को ज्यादा से ज्यादा बढ़ावा देने के लिए सभी से सहयोग और सुझाव की अपील की। इस अवसर पर पर्यावरण विभाग के के0 के0 सिंह ने मौजूद सभी सहकर्मियों को हरित शपथ दिलाई। वहीं पर्यावरण विभाग के अनिल सिंह ने हिण्डाल्को के प्रबंध निदेशक श्री सतीश पाई के पर्यावरण संदेश को पढ़कर सुनाया। कार्यक्रम में वरिष्ठ अधिकारी जे0 पी0 नायक, कर्नल (से0 नि0) संदीप खन्ना, वनिता वासनिक, डॉक्टर भास्कर दत्ता, कर्नल (से0 नि0) जयदीप मिश्रा, राजीव झुनझुनवाला, एस0पी0 सिंह, परनीत सिंह, निखिल गौरव के साथ सैकड़ों सहकर्मियों ने वृक्षारोपण किया।

पौधरोपण करते श्री एन0 नागेश व अन्य वरिष्ठ अधिकारी..

Ram Ashish Yadav

राम आशीष यादव सोनभद्र विंडमगज निवासी है। कुछ कर गुजरने की ललक के कारण कम समय मे ही राम आशीष यादव आज जिले की पत्रकारिता मे एक जाना पहचाना नाम है।

Related Articles

Back to top button
BREAKING NEWS
जीएसटी टीम आने की सूचना से बाजार में सन्नाटा मुख्य अभियंता ने कनहर सिंचाई परियोजना के मुख्य बांध के राकफिल निर्माण का लिया जायजा नसबंदी शिविर में 49 महिलाओं का किया गया बंध्याकरण सर्वश्रेष्ठ कायकल्पित विद्यालयों के अध्यापक व प्रधानों को जिलाधिकारी ने किया सम्मानित नौकरी करने निकले रेलवे कर्मचारी हुआ गुम, भाई ने दी गुमसुदगी की प्रार्थना पत्र घटिया कार्य की वजह से छत गिरने की स्थिति,बच्चे कमरे के बाहर पढ़ने को मजबूर 6 अध्यक्ष, 4 महामंत्री व 2 कोषाध्यक्ष समेत 32 प्रत्याशियों ने किया नामांकन विराट रुद्र महायज्ञ की तैयारियां पूरी, श्री रामकथा से गुंजायमान होगा ओबरा नगर अटेवा ने मनाया शहीद दिवस, स्वo रामआशीष सिंह को किया याद राजकीय डिग्री कॉलेज संचालन को लेकर शिक्षा मंत्री को पत्र
Download App