Close

सड़क हादसे में मृत नेवी के जवान व उनकी मां का शव पांचवें दिन पहुंचा गांव, नम आंखों से लोगों ने अपने लाल को दी अंतिम विदाई

नगर, गढ़वा।(रामआशीष यादव) राजस्थान के सुमेरपुर में हुये सड़क हादसे में मृत इंडियन नेवी का चीफ पेटी ऑफिसर सीपीओ ब्रजेश कुमार यादव एवं उनकी मां सोनिया देवी का पांचवे दिन शव इंडियन नेवी व आर्मी के जवानों ने तिरंगे में लिपटा शव लेकर घर पहुंचे।

शव पंहुचते ही पूरे इलाके गमगीन हो गया। शव को देखने के लिये लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। परिजनों के चीख पुकार से पूरा माहौल गमगीन हो गया।
जानकारी के मुताबिक मां बेटे दोनों का शव इंडियन नेवी की टीम के द्वारा सोमवार की शाम को फ्लाईट के द्वारा राजस्थान से रांची लाया गया था। इसके बाद मंगलवार की करीब 3:20 बजे रांची से विशेष एंबुलेंस के माध्यम से दोनों शव को गांव लाया गया।
यहां बता दें कि इंडियन नेवी का चीफ पेटी ऑफिसर सीपीओ ब्रजेश कुमार यादव एवं उनकी मां सोनिया देवी गुजरात के पोरबंदर से गत शुक्रवार को दीपावली की छुट्टी मनाने के लिये घर आ रहे थे। इसी दौरान राजस्थान के सुमेरपुर में निजी वाहन स्कॉर्पियो का टायर फटने से दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। जिससे उसपर सवार ब्रजेश एवं उनकी मां की घटनास्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई थी। जबकि दो अन्य साथी घायल हुये थे। दोनों घायलों का इलाज अस्पताल में चल रहा है। झारखंड के गढ़वा जिले के ब्रजेश का पैतृक गांव धुरकी थाना क्षेत्र के धोबनी गांव है। मगर उनका पूरा परिवार सगमा में ही रहता है।

उधर घटना की सूचना मिलते ही मृतक का पैतृक गांव धोबनी समेत धुरकी व सगमा प्रखंड में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है। परिजनों का रो रो कर बुरा हाल हो गया है। परिजनों को ढांढस बढाने के लिये बड़ी संख्या में लोग पहूंचे।

मृत इंडियन नेवी का जवान का शव पंहुचते ही गमगीन हुआ माहौल
इंडियन नेवी का ब्रजेश कुमार यादव एवं उनकी मां सोनिया देवी का शव गांव पहुंचते ही पूरे इलाके में गमगीन हो गया। चारों तरफ चित्कार मच गया। सड़क हादसे में मृत इंडियन नेवी का जवान का पैतृक गांव धुरकी थाना क्षेत्र के धोबनी गांव है।
एक साथ मां बेटे का घर से निकला अर्थी, नम आंखों से लोगों ने दी अंतिम विदाई
गत शुक्रवार को राजस्थान के सुमेरपुर में हुये सड़क हादसे में मृत इंडियन नेवी का जवान ब्रजेश कुमार यादव एवं उनकी मां सोनिया देवी का शव अंत्येष्टि के लिये घर से निकलते ही चित्कार मच गया। वहां मौजूद भीड़ ने नम आंखों से अपने लाल को अंतिम विदाई दी।

बंबा डैम के पास श्मशान घाट पर हुआ अंत्येष्टि
इंडियन नेवी का जवान बृजेश कुमार यादव एवं उनकी मां सोनिया देवी का बंबा डैम के पास बाकी नदी के तट पर स्थित श्मशान घाट पर उनका अंत्येष्टि किया गया। मुखाग्नि उनके पिता नकु यादव ने दी।
मृत जवान घर का इकलौता सदस्य था

सड़क हादसे में मृत ब्रजेश कुमार यादव के एक पुत्र एवं एक पुत्री व पत्नी राजलक्ष्मी यादव है। मिली जानकारी के मुताबिक ब्रजेश को 31 जनवरी 2022 को रिटायरमेंट होना था। भारत माता की जय, शहीद ब्रजेश कुमार यादव एवं सोनिया देवी अमर रहें की नारों से गूंजा पूरा इलाका
मृत जवान एवं उनकी मां का शव रिसीव करने के लिये लोग गढ़वा जिला मुख्यालय पहुंच गये। जुलूस में शामिल लोग भारत माता की जय, शहीद ब्रजेश कुमार यादव एवं सोनिया देवी अमर रहें के गगनभेदी नारे लगा रहे थे। शव यात्रा में बड़ी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया। उस मौके पर रिटायर्ड आर्मी कैप्टन सुनील चौबे, जिला परिषद सदस्य नंदगोपाल यादव, कांग्रेस के पूर्व विधानसभा प्रत्याशी के पी यादव, सगमा भाजपा मण्डल अध्यक्ष दिलीप यादव, श्री बंशीधर नगर के विकास पांडेय, विकास स्वदेशी, लक्ष्मण राम, ओम प्रकाश गुप्ता, देवचन्द्र यादव राजेंद्र राम, दशरथ बैठा, धुरकी के थाना प्रभारी विनोद कुमार, पीएसआई विवेक कुमार एवं श्री बंशीधर नगर थाना के थाना प्रभारी लालबिहारी प्रसाद समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

भीम जायसवाल सोनभद्र के दुद्धी निवासी है।कुछ कर गुजरने की ललक के कारण आज जिले की पत्रकारिता मे एक जाना पहचाना नाम है।

BREAKING NEWS
scroll to top