Close

साहब! मै मरा नहीं हूं,अभी ज़िंदा हूं…….

पेंशन के लिए बुजुर्ग पहुंचा बैंक तो बैंककर्मियों ने उसे मरा होने की बात बताई

समाज कल्याण विभाग की कारस्तानी, जिंदा को कर दिया मृत घोषित

दुद्धी, सोनभद्र (मु.शमीम अंसारी/भीम जायसवाल)। साहब! मै मरा नहीं हूं,अभी ज़िंदा हूं| पेंशन के सहारे ही हमारी जिन्दगी कट रही है,पेंशन नहीं मिला तो हम मर जायेंगे| यह अल्फाज बुधवार को जिला सहकारी बैंक के स्थानीय शाखा के बाहर बुजुर्ग हनुमान के मुंह से निकल रहे थे| वह अपना वृद्धा पेंशन निकालने के लिए बैंक आया हुआ था,किन्तु उसे बैंक अधिकारी ने समाज कल्याण विभाग के एक पत्र का हवाला देते बताया कि वह तो मर चुका है| इसलिए उसके खाते के निकासी पर रोक लगा दिया गया है|
इस बाबत वार्ड संख्या चार निवासी हनुमान पुत्र जगदेव ने बताया कि बीते कई साल से वह पेंशन के ही धनराशि से गुजर बसर करते चले आ रहे है| बीते महीने आये पेंशन की राशि निकालने बैंक पहुंचा,तो उसे बताया गया कि उसके मरने की सूचना समाज कल्याण विभाग द्वारा भेजी गई है| उसी सूचना के आधार पर उसके खाते के संचालन पर रोक लगा दिया गया है| चलने फिरने में असहज बुजुर्ग का बैंक के सामने ही रो रो कर बुरा हाल हो रहा था| वह बैंक के सामने खड़ा होकर साक्षात अपने ज़िंदा होने का सबूत दे रहा था,इसके बावजूद भी बैंक कर्मी उसकी बात को अनसुना कर रहे थे| इस बाबत शाखा प्रबंधक राजेश कुमार ने बताया कि समाज कल्याण विभाग द्वारा बीते दिनों भेजे गये पत्र में क्षेत्र के 54 लोगों को मृतक बताते हुए उनके खाते पर रोक लगाने की संस्तुति की है| उसी सूची में हनुमान का भी नाम है| बीते जून माह तक उसके खाते में पेंशन की राशि की निकासी हुई है|

मु. शमीम अंसारी कृषि स्नातकोत्तर (प्रसार शिक्षा/जर्नलिज्म) इलाहाबाद विश्वविद्यालय (उ.प्र.)

BREAKING NEWS
डुमरा के सहीमनवा पहाड़ी पर सार्वजनिक मन्दिर निर्माण कार्य को वन विभाग ने रोका पिकअप के धक्के से बाइक सवार युवक व युवती घायलप राम भरत का मिलन देख लीला प्रेमियों की आंखें हुई नम शष्ठी बोधन के साथ हिण्डाल्को में दुर्गापूजनोत्सव का शुभारंभ अनियंत्रित पेड़ से टकराई चार सवार हुए गंभीर मिशन नारी शक्ति के तहत छात्राओ को ज्ञानेन्द्र सिंह ने किया जागरूक एनटीपीसी रिहंद ने बाटें सोलर लैम्प भक्ति रस से सराबोर हुआ रिहंद परियोजना का दुर्गा पूजा पंडाल पिपरी थाने पर महिला हेल्प डेस्क सेंटर का हुआ शुभारंभ मिशन शक्ति के तहत सांस्कृतिक कार्यक्रम के माध्यम से महिलाओं को किया गया जागरूक
scroll to top