Close

नाबालिक युवती से शादी के करने वाले आरोपी पर मुकदमा दर्ज कर, विंढमगंज पुलिस ने किया गिरफ्तार

विंढमगंज/ सोनभद्र (राम आशीष यादव)

विंढमगंज थाना क्षेत्र के मुडिसेमर ग्राम पंचायत निवासी दो नाबालिक प्रेमी जोड़े को ग्रामीणों के द्वारा पकड़े जाने के बाद स्थानीय कुछ ग्रामीणों के बीच बीते 27 अगस्त को बॉर्डर पर स्थित मंदिर में शादी कराए जाने की खबर पर जिला प्रोबेशन अधिकारी डॉक्टर ए के पौत्स्यायन की पहल पर विंडमगंज थाना अध्यक्ष बृजमोहन सरोज ने आज उक्त युवक को मुडिसेमर तिराहे पर धर दबोचा धारा 363,366,376,504 आईपीसी व तीन/ चार पोक्सो एक्ट व 3(2)(5) एससी एसटी एक्ट व बाल विवाह प्रतिशोध अधिनियम 2006 की धारा 9 में जेल भेजा। स्थानीय थाना क्षेत्र के मुडिसेमर ग्राम पंचायत में बीते दिनों हुए बाल विवाह का संज्ञान जब बाल कल्याण समिति व जिला प्रोबेशन अधिकारी के द्वारा लिए जाने के बाद विंडमगंज थाना अध्यक्ष ने गंभीरता दिखाते हुए उक्त मामले में शामिल मुडिसेमर ग्राम पंचायत निवासी मनीष कुमार पुत्र विजय कुमार को आज मुखबिर की सूचना पर मुडिसेमर तिराहे पर धर दबोचा तथा संबंधित धाराओं में चालान करते हुए जेल भेजा ।
बता दें कि बाल विवाह से संबंधित मामले आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र में ज्यादा सुनने को व देखने को मिला करता है। इसी क्रम में बीते 27 अगस्त को मुडिसेमर ग्राम पंचायत में एक मामला प्रकाश में आया जिसकी जानकारी बाल कल्याण समिति व जिला प्रोबेशन अधिकारी को हुई तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। उन्होंने तत्काल इस संबंध में पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर मामले की जांच कराने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की इच्छा जताई थी तथा इस बाल विवाह में शामिल ग्राम प्रधान प्रतिनिधि समेत कई लोगों पर भी कार्रवाई की संस्तुति की थी जैसा कि पत्र में यह कहा गया था। कि मुडिसेमर गांव की रहने वाली 17 वर्षीय किशोरी व 19 वर्षीय युवक की शादी बीते 27 अगस्त को झारखंड बॉर्डर पर स्थित एक मंदिर में कराई गई थी व इस विवाह में दर्जनों की भीड़ भी जुटी थी जिसकी वीडियो किसी ने चाइल्ड केयर हेल्पलाइन व बाल कल्याण समिति को दी थी। जिस पर पुलिस अधीक्षक ने मामला की गंभीरता को देखते हुए विंडमगंज थाना अध्यक्ष बृजमोहन सरोज को तत्काल कानूनी कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया था। उसी क्रम में आज थाना अध्यक्ष ने उक्त युवक को गिरफ्तार करके संबंधित धाराओं में निरुद्ध कर जेल भेजा वही मुडिसेमर ग्राम पंचायत में इस तरह की कानूनी कार्रवाई होने से बाल विवाह में शामिल लोगों में हड़कंप मचा हुआ है।

राम आशीष यादव सोनभद्र के विंडमगज निवासी है।कुछ कर गुजरने की ललक के कारण कम समय मे ही राम आशीष यादव आज जिले की पत्रकारिता मे एक जाना पहचाना नाम है।

BREAKING NEWS
scroll to top